गुरुकुल नरसिंहनाथ, बरगड (उड़ीसा)

४. महर्षि दयानन्द गुरुकुल योगाश्रम नरसिंहनाथपाईकमाल,जिला-बरगड (उड़ीसा)

यह संस्था श्रीमद् दयानन्द वेदार्ष महाविद्यालय-न्यास ११९ गौतम, नई दिल्ली-४९ से सम्बद्ध चतुर्थ शाखा है। यह शाखा प्रसिद्ध ऐतिहासिक आयुर्वेदिक औयुर्वेदिक औषधियों के भण्डार नरसिंहनाथ में गन्धमार्दन पर्वतमाला के सतत् पवित्र रोगहारक जल स्रोत से स्नात उड़ीसा प्रान्त के जिला बरगड़ के पाईकमाल नरसिंहनाथ में स्थित है।

            यह शैक्षणिक संस्था २४ वर्षों से उजाड़ पड़ी मानो पूज्य स्वामी प्रणवानन्द सरस्वती की रचनात्माक दृष्टि की वाट जोह रही थी। पूर्व में इसे स्वामी ज्ञानानन्द सरस्वती ने संस्थापित किया, किन्तु शारीरिक असमर्थता के कारण संचालन के असमर्थ थे। पूज्य स्वामी प्रणवानन्द सरस्वती के संरक्षण में आज यह संस्था मात्र ९ वर्षों में ही पश्चिमी उड़ीसा के शिक्षा केन्द्रों में अपना उच्च स्थान प्राप्त कर रही हैं स्वामी प्रणवानन्द के सुयोग्य शिष्य आचार्य नरदेव यजुर्वेदी एवं आचार्य बुद्धदेव जी के आचार्यत्व में ७॰ विद्यार्थी आर्ष ग्रन्थों के निःशुल्क अध्ययन में संरत हैं तथा आधुनिक शिक्षा के ज्ञान को प्राप्त कराते हुए आर्ष न्यास अपनी विस्तारित शाखा से गौरवान्वित हो रहा है।